युवाओं ने कोरोना की जंग में दिया योगदान, 50 घरों को किया सेनेटाइज

0
272

रिपोर्ट- वसीम खांन

खैलार। इन दिनों कोरोना वायरस को लेकर शहर में डर का माहौल है। सरकारी तंत्र कमर्शियल प्लेस पर सेनेटाइजेशन कर रहा है। जबकि सबसे ज्यादा खतरा ग्रामीण इलाकों में हैं। इस खतरे को भांपते हुए खैलार गांव के युवकों ने अपने गांव से कोरोना वायरस से दूर रखने के लिए पूरे गांव को सेनेटाइज करने का जिम्मा उठाया और एक दिन में टीम ने 50 घरों को सेनेटाइज कर एक मिसाल कायम की है।

युवाओं ने 50 घरों को किया सेनेटाइज

दरअसल बबीना विकास के ग्राम खैलार में युवाओं ने कोरोना की जंग में अपना योगदान देने का जिम्मा उठाया और गाॅव को सेनेटाइज करने की जिम्मेदारी अपने कंधों पर ले ली। जिसमें गाॅव के गौतम कुशवाह, अनिल कुशवाह, सुमेर खान व शिवम कुशवाह ने अपने गाॅव के कुशवाह मौहल्ले को सेनाटाइज करने का प्रयास किया। जिसमें एक दिन में उन्होंने 50 घरों को पूरी तरीके से सेनेटाइज किया। युवाओं की टीम का मानना है कि हमारे इस प्रयास से गाॅव में जागरुकता आयेगी और हम सभी इस संक्रमण की लडाई में सरकार का सहयोग कर सकेंगे। वहीं गाॅव के गौतम कुशवाह का कहना है कि हमारे गाॅव को सेनेटाइजेशन का प्रयास लगातार जारी रहेगा, क्योकि आज जिस मौहल्ले को सेनेटाइज किया है उस मौहल्ले में सब्जी विक्रेता निवास करते है जिसके कारण उन ब्यापारियों को झांसी सब्जी मंडी जाना होता है जिसके कारण कई बार जाने-अंजाने वह कई लोगों के सम्पर्क में आते है। यह बात बेहद गम्भीर है जिसको लेकर सेनेटाइज करने का प्रयास शुरु किया।

गाॅव में सरकारी मशीनरी का नहीं मिल रहा सहयोग

युवाओं की टीम ने सरकारी तंत्र की सराहना करते हुए जिलाप्रशासन का ध्यान इस गाॅव की तरफ आकिर्षत करने की अपील करते हुए कहा कि गाॅव को सेनेटाइज करने के लिए अगर सरकारी तंत्र की मद्द और मिल जाती तो कोरोना की जंग में जीत पाना आसार हो जाता है। टीम का कहना है कि गाॅव में ग्राम सभा की ओर से कोई भी सेनेटाइज करने का प्रयास नहीं किया जा रहा, जिससे ग्रामीण में भय का माहौल ब्याप्त है।

अपने आसपास घट रही घटनाएं व क्षेत्र की समस्याएं हम तक पहुंचाने के लिए स्क्रीन पर शो हो रहे व्हाट्सएप आईकैन पर क्लिक कर सांझा करें…

LEAVE A REPLY